लेह में मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के साथ शुक्रवार सुबह लेह पहुंचे। (फोटो: ट्विटर / @ भाजपा $ इंडिया)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह भारतीय सेना, वायु सेना और आईटीबीपी के सैनिकों के साथ बातचीत करने के लिए लेह का औचक दौरा किया।

पूर्वी लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच एक हिंसक झड़प के बाद लद्दाख में सिंधु नदी के तट पर 11,000 फीट की दूरी पर स्थित निमो में पीएम का दौरा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख एमएम नरवने थे।

पीएम मोदी शुक्रवार तड़के लेह में उतरे।

पीएम मोदी और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत सुबह करीब 9.30 बजे लेह पहुंचे।

पीएम के निमू पहुंचते ही पीएम मोदी को सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी जानकारी दी। 11,000 फीट पर स्थित, निमू सबसे कठिन इलाकों में से एक है, जो सिंधु नदी के तट पर और ज़ांस्कर रेंज से घिरा हुआ है।

पीएम मोदी को सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने जानकारी दी।

पीएम के निमू पहुंचते ही पीएम मोदी को सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी जानकारी दी। 11,000 फीट पर स्थित, निमू सबसे कठिन इलाकों में से एक है, जो सिंधु नदी के तट पर और ज़ांस्कर रेंज से घिरा हुआ है।

चीन के साथ सीमा विवाद के दौरान किसी मंत्री द्वारा यह पहली यात्रा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को लद्दाख का दौरा करना था, जिसे कथित तौर पर पुनर्निर्धारित किया गया था।

पीएम मोदी ने लद्दाख में सेना, वायु सेना के कर्मियों के साथ बातचीत की।

भारत और चीन के बीच तनाव के बीच, प्रधान मंत्री ने अपने मासिक mer मन की बात ’रेडियो संबोधन में कहा था कि भारत ने लद्दाख में अपने क्षेत्र में बुरी नजर डालने वालों को करारा जवाब दिया है।

उन्होंने कहा था कि देश मित्रता की भावना का सम्मान करता है, लेकिन यह किसी भी विरोधी को उचित प्रतिक्रिया देने में भी सक्षम है।

हिंसक आमना-सामना में मारे गए 20 सेना के जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए, पीएम मोदी ने भी कहा था कि भारत के बहादुर सैनिकों ने दिखाया है कि वे देश के गौरव को आहत नहीं होने देंगे।

ऑल-न्यू इंडिया टुडे ऐप के साथ अपने फोन पर रीयल-टाइम अलर्ट और सभी समाचार प्राप्त करें। वहाँ से डाउनलोड

  • एंड्रिओड ऐप
  • आईओएस ऐप



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here